Wednesday, 23 December 2020

कक्षा १० / ९ - हिंदी व्याकरण - संरचना (बनावट) के आधार पर क्रिया भेद - class 10 - Hindi Grammar - Kriya (#class10Hindi)(#eduvictors)(#cbse2020)

कक्षा १० / ९ - हिंदी व्याकरण - संरचना (बनावट) के आधार पर क्रिया भेद

कक्षा १० / ९ - हिंदी व्याकरण - संरचना (बनावट) के आधार पर क्रिया भेद - class 10 - Hindi Grammar - Kriya (#class10Hindi)(#eduvictors)(#cbse2020)

संरचना की दृष्टि से क्रिया के पांच भेद  है :

१.प्रेरणार्थक क्रिया

२.संयुक्त क्रिया 

३.कृदन्त क्रिया 

४. नामधातु क्रिया

५. पूर्वकालिक क्रिया


१ . प्रेरणार्थक क्रिया

जिस क्रिया से इस बात का ज्ञान हो कि कर्ता स्वयं कार्य न कर किसी अन्य को उसे करने के लिए प्रेरित करता है, उसे प्रेरणार्थक क्रिया कहते हैं ।

जैसे- बोलना- बोलवाना, पढ़ना- पढ़वाना,  खाना- खिलवाना, बनवाना इत्यादि ।


२. संयुक्त क्रिया 

जब दो या दो से अधिक क्रियाएँ मिलकर किसी पूर्ण क्रिया को बनाती है, संयुक्त क्रियाएँ कहलाती है ।

जैसे- कर लिया, सो गया, काट लिया, गाता गया आदि।


३.  कृदन्त क्रिया  - 

शब्द के अन्त में कृत प्रत्यय के लगने से कृदन्त क्रियाएँ बनती है ।

जैसे – 

  चल+ता – चलता

  चल+आ –चला, 

  दौड़+आ -दौड़ा

  चल+कर – चलकर 


४ . नामधातु क्रिया - 

मूल धातुओं से भिन्न – ‘संज्ञा’ ‘सर्वनाम’ ‘विशेषण’ आदि शब्दों से बनने वाली धातुओं को नामधातु क्रिया कहते है ।

जैसे – फ़िल्माना, शरमाना, लजाना, हिनहिनाना आदि।


४ . नामधातु क्रिया - 
मूल धातुओं से भिन्न – ‘संज्ञा’ ‘सर्वनाम’ ‘विशेषण’ आदि शब्दों से बनने वाली धातुओं को नामधातु क्रिया कहते है ।
जैसे – फ़िल्माना, शरमाना, लजाना, हिनहिनाना आदि।


५. पूर्वकालिक क्रिया - 
जो क्रिया मुख्य क्रिया से पहले पूर्व प्रयोग की जाए, उसे पूर्वकालिक क्रिया कहते है ।
पढ़कर, खाकर, नहाकर, पीकर, देखकर आदि।
 मै पढ़कर लिखुँगा । (पढ़कर - पूर्वकालिक क्रिया है | )


👉इन्हें भी देखें 



No comments:

Post a comment

We love to hear your thoughts about this post!